Monday, May 20

विवाहिता ने मौत से पहले व्हाट्सएप पर लगाए सात स्टेटस, फिर लगा ली फांसी

Pinterest LinkedIn Tumblr +

बांदा 04 अक्टूबर । बांदा में एक विवाहिता ने मंगलवार की शाम को आत्महत्या कर ली। मौत से पहले उसने व्हाट्सएप पर सात स्टेटस लगाए। उसका शव फांसी के फंदे पर लटका मिला। विवाहिता ने स्टेटस में अपने मौत की वजह लिखी और पुलिस से अपने गुनहगारों को सजा दिलाने का निवेदन किया। वहीं अपने बेटे की जान का खतरा बताते हुए मायके पक्ष को सौंपने की बात लिखकर स्टेटस वायरल कर दिया। मासूम बेटे को कमरे से बाहर निकालकर फांसी के फंदे में झूल गई।

जिसे परिजनों अस्पताल पहुंचाया। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। जिसके बाद अस्पताल में मायके पक्ष और ससुराल पक्ष में जमकर विवाद हुआ। इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और आगे की कार्रवाई में जुट गई।
मामला आजाद नगर का है। 28 साल की अफसिन नामक महिला की ढाई साल पहले यहां शादी हुई थी। उसका एक ढाई साल बेटा भी है। मंगलवार को अफसिन के माता-पिता थाने पहुंचे। उन्होंने बताया कि उनकी बेटी ने सुसाइड कर लिया है। वो भी ससुराल वालों से तंग आकर। परिजनों ने बताया कि मरने से पहले उनकी बेटी ने व्हाट्सएप पर स्टेटस लगाए थे। जिसमें उसने ससुराल वालों के अत्याचारों के बारे में लिखा है।

परिजनों ने मृतका के स्टेटस पुलिस को दिखाए। जिसमें लिखा था, ”मैं सबको बताना चाहती हूं कि मैं पिछले ढाई सालों से ससुरालियों का अत्याचार सह रही हूं। अब मुझसे और नहीं सहा जा रहा। मुझे मरने के लिए मजबूर किया जा रहा हैष मेरी मौत के जिम्मेदार मेरे ससुराल वाले हैं। UP पुलिस से गुजारिश है कि मेरे गुनाहगारों को सजा जरूर दें। मम्मी-पापा मुझे माफ़ करना मैं दुनिया छोड़कर जा रही हूं।”

एक अन्य स्टेटस पर महिला ने लिखा, ”मैं अब तक सिर्फ अपने बेटे के लिए ससुराल वालों का टॉर्चर सह रही थी. लेकिन अब बर्दाश्त नहीं हो रहा. मेरी जेठानी को भी ये लोग परेशान करते हैं. उनके मायके पक्ष में कोई नहीं है. इसलिए वो इन लोगों के टॉर्चर सह रही हैं. गुजारिश है कि मेरे बेटे को मेरे मायके वालों को सौंप दिया जाए. क्योंकि उसकी जान को भी खतरा है।”

वहीं मृतका ने स्टेटस में पुलिस से भी गुहार लगाई की “उसकी मौत के जिम्मेदारों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाई जाए”। मैं अब तक सिर्फ अपने बेटे के लिए ससुराल वालों का टॉर्चर सह रही थी लेकिन अब बर्दाश्त नहीं हो रहा।मेरी जेठानी को भी ये लोग सात साल से परेशान करते आ रहे हैं। उनके मायके पक्ष में कोई नहीं है। इसलिए वो इन लोगों के टॉर्चर सह रही हैं।
वहीं मृतका की मां ने ससुरालियों पर दहेज हत्या का आरोप लगाया है। मायके पक्ष की तहरीर और अब तक मिले सबूतों के आधार पर सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया जा रहा है।

Share.

About Author

Leave A Reply