Saturday, July 20

सांसद ने पूछा, एक्सप्रेसवे की निगरानी के दावों के बाद भी कैसे दौड़ रहे दुपहिया वाहन

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 26 दिसंबर (प्र)। दिल्ली- मेरठ एक्सप्रेसवे पर काशी टोल प्लाजा के कंट्रोल रूम में व्यवस्थाओं की जांच के लिए सांसद राजेंद्र अग्रवाल गत देर शाम अधिकारियों के साथ पहुंचे। यहां उन्होंने एक्सप्रेसवे की निगरानी के दावे को लेकर सवाल उठाए और कोहरे में हो रहे हादसों को रोकने के संबंध में अपनाई सतर्कता को लेकर कर्मचारियों से पूछताछ की।

एक्सप्रेसवे पर आए दिन हादसे हैं रहे हैं। कई लोगों को जान जा चुकी है। कोहरे के कारण भी एक्सप्रेसवे पर कई वाहन टकरा गए और एक व्यक्ति की मौत हो गई। लगातार होते हादसों को देखते हुए सोमवार की शाम सांसद राजेंद्र अग्रवाल, एसपी ट्रैफिक राघवेंद्र मिश्रा, एनएचएआई के पीढ़ी अरविंद कुमार के साथ काशी टोल प्लाजा पर कंट्रोल रूम की जांच के लिए पहुंचे। यहां सांसद ने पूछा कि एक्सप्रेसवे की निगरानी के लिए तमाम दावे किए गए, लेकिन लगातार गलत दिशा में वाहन दौड़ने से छदसे हो रहे हैं। प्रतिबंध होने के बाद भी परिव वाहनों का संचालन जारी है। ऐसे में निगरानी तंत्र क्या कर रहा है? संसद ने कोहरे के कारण हो रहे हादसों और एक्सप्रेसने पर एंबुलेंस की तैनाती और रिस्पांस टाइम को लेकर भी सवाल किए। सांसद ने बताया कि कंट्रोल रूम में निगरानी तंत्र को अधिक सतर्क करने व व्यवस्थाओं को बेहतर बनाने के लिए निर्देश दिए हैं। एक्सप्रेसवे को हादसे से मुक्त करने पर जोर दिया गया है और कर्मचारियों से सवाल किए गए हैं। कई सवालों का जवाब कर्मचारी नहीं दे सके। हालांकि सुधार करने के लिए निर्देशित किया है।

एक्सप्रेसवे को हादसे मुक्त बनाया जाएगा
सांसद ने मौजूद अधिकारियों से भी सवाल किया कि एक्सप्रेसवे को हादसों से मुक्त करने के लिए उन्होंने क्या किया? वाहनों को उल्टी दिशा में आने से रोकने, दुपहिया वाहनों पर कार्रवाई आदि को लेकर अधिकारियों ने जानकारी। साथ ही कोहरे में हादसे के बाद घायलों को अस्पताल पहुंचे व संबंधित थाना पुलिस से समन्वय स्थापित कर बनाने को लेकर अपना पक्ष रखा। हालांकि भविष्य में सुधार करने पर अधिकारियों का अधिक जोर रहा।

Share.

About Author

Leave A Reply