Monday, April 15

वकील पर मुकदमा दर्ज कर फंस गयी पुलिस

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 02 मार्च (प्र)। एक सीनियर वकील पर मुकदमा दर्ज कर किठौर पुलिस फंस गयी है। अधिवक्ता नोफिल अली पुत्र मकबूल निवासी लोहिया नगर कई अन्य वरिष्ठ अधिवक्ताओं के संग इस मामले में शुक्रवार को एसएसपी से मिलने पहुंचे और किठौर पुलिस की कारगुजारी का खुलासा किया। अब इस मामले में एसपी देहात कमलेश बहादुर सिंह ने मामले की जांच सीओ सदर देहात को सौंप दी है। वहीं, दूसरी ओर नोफिल अली पर दर्ज मुकदमे को लेकर वकीलों में पुलिस के प्रति नाराजगी देखी जा रही है।

अधिवक्ता नोफिल अली ने बताया कि उन्होंने अपनी बेटी का विवाह मार्च 2021 मो. अली पुत्र माशुक अली निवासी थाना ब्रह्मपुरी से किया था। उन्होंने आरोप लगाया कि दहेज की मांग के कारण ससुराल वाले उनकी बेटी को परेशान करने लगे। यह सोचकर कि आगे चलकर ससुराल वालों का व्यवहार ठीक हो जाएगा। उन्होंने अपनी ओर से कोई कानूनी कार्रवाई नहीं की, लेकिन बेटी के ससुराल वालों के व्यवहार में कोई बदलाव नजर नहीं आया बल्कि को लगातार सबक सिखाने की धमकी देते रहे। उन्होंने एसएसपी को दिए पत्र में बताया कि बेटी का ससुर उन्हें झूठे मुकदमे में फंसाकर जेल भेजने की धमकी देता रहा और उन्होंने किठौर पुलिस की मदद से अपनी धमकी को सच भी साबित कर दिया। उनके खिलाफ विगत 19 फरवरी को एक झूठा मामला दर्ज करा दिया।

अधिवक्ता नोफिल के खिलाफ दर्ज कराया गया मुकदमा अब पुलिस के गले की फांस बन गया। उन्होंने बताया कि जो मुकदमा उनके खिलाफ दर्ज किया गया है उसमें घटना का समय 19 फरवरी को सांय 5.30 बजे उल्लेख किया गया है। 19 फरवरी को वह कानूनी काम से वह दिल्ली एयर पोर्ट से इंडिको की फ्लाइट से जिसका उन्होंने पूरा ब्योरा अपने में दिया है से भुवनेश्वर के लिए रवाना हुए थे। उन्होंने जानकारी दी कि 8.20 मिनट पर वह फ्लाई में सवार थे। ऐसी स्थिति में जब वह दिल्ली एयरपोर्ट पर मौजूद थे तो घटना को कैसे अंजाम दे सकते हैं। उन्होंने एसएसपी से झूठा मुकदमा कायम करने पर किठौर पुलिस व माशूक अली के खिलाफ कार्रवाई की भी मांग की है।

Share.

About Author

Leave A Reply