Friday, March 1

सपा के राष्ट्रीय महासचिव रवि वर्मा ने दिया इस्तीफा, कांग्रेस में शामिल होने की चर्चा

Pinterest LinkedIn Tumblr +

लखीमपुर खीरी 03 नवंबर। लोकसभा चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी (सपा) को बड़ा झटका लगा है। कद्दावर नेता रवि प्रकाश वर्मा ने आज सपा की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने अपने इस्तीफा देने का कारण लखीमपुर खीरी में सपा की आंतरिक गतिविधियों को बताया। चर्चा है कि रवि वर्मा अब कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं। उधर, कांग्रेस प्रदेश कमेटी ने उनको पार्टी में शामिल कराने की तैयारियां पूरी कर ली हैं।

बता दें कि 4 बार के सांसद और कुर्मी समाज के बड़े नेता रवि वर्मा ने समाजवादी पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. माना जा रहा है कि जल्द ही रवि प्रकाश वर्मा कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं. लखीमपुर खीरी से वर्मा परिवार के पास करीब 10 बार सांसदी रही है. खबर है रवि प्रकाश वर्मा अपनी बेटी पूर्वी वर्मा के साथ लखनऊ में कांग्रेस में शामिल हो जाएंगे. लखीमपुर खीरी लोकसभा सीट पर इस परिवार का काफी दबदबा रहा है.

रवि प्रकाश वर्मा के माता और पिता, कांग्रेस के बड़े नेता रहे हैं. दोनों कांग्रेस से कई बार सांसद रहे हैं. खुद रवि वर्मा भी 4 बार सांसद रहे हैं. माना जा रहा है कि रवि वर्मा की बेटी पूर्वी वर्मा भी अपने पिता के साथ कांग्रेस में शामिल होंगी. पूर्वी वर्मा ने अजय मिश्रा टेनी के खिलाफ लोकसभा चुनाव लड़ा था, वर्तमान में अजय मिश्रा टेनी गृह राज्य मंत्री हैं. रवि वर्मा लखीमपुर खीरी जिले के गोला के रहने वाले हैं. वह 4 बार समाजवादी पार्टी से सांसद और 1 बार राज्यसभा सांसद भी रह चुके हैं.

रवि वर्मा के माता-पिता जहां कांग्रेस के नेता रहे हैं. तो वहीं रवि वर्मा समाजवादी पार्टी चीफ अखिलेश यादव के करीबी माने जाते हैं. रवि वर्मा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए बताया कि समाजवादी पार्टी में अब संप्रदायिक ताकतों का बोलबाला हो गया है. कई बार इस बात को लेकर माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को भी बताया लेकिन वह इन बातों को तवज्जो नहीं दे रहे हैं. अब मैं समाजवादी पार्टी में अपने आप को काफी अपमानित महसूस कर रहा हूं.

रवि वर्मा कुर्मी समाज के कद्दावर नेता हैं। जिले की करीब 50 लाख की आबादी वाले खीरी जनपद में ओबीसी आबादी सबसे ज्यादा करीब 35 प्रतिशत है। इनमें कुर्मी बाहुल्य आबादी पहले नंबर पर है। इसी गणित को साधते हुए समाजवादी पार्टी ने रवि प्रकाश वर्मा को तीसरी बार जनवरी महीने में राष्ट्रीय महासचिव बनाया था। आगामी लोकसभा चुनाव में टिकट न मिलने की बनती स्थिति को लेकर वह पार्टी से नाराज रहे।

Share.

About Author

Leave A Reply