Friday, July 19

संतान नहीं होने पर पत्नी की गला रेत कर हत्या, पति फरार

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 14 मार्च (प्र)। पति ने निकाह के 18 साल बाद भी संतान नहीं होने पर पत्नी की गला रेत कर हत्या कर दी। पशु काटने वाली छुरी से आरोपित ने गले की नश काट दी, जिससे रातभर खून बहने की वजह से उसकी मौत हो गई। पुलिस आरोपित की तलाश कर रही है।

थाना भावनपुर में अब्दुलापुर के हरिया मोहल्ले निवासी गुलफाम पुत्र नवाब का निकाह 2006 में मुजफ्फरनगर के ककरौली निवासी मोसिलीन से हुआ था। इनको संतान नहीं हुई, इससे अक्सर दोनों में कहासुनी होती थी । विवाद इतना बढ़ा कि 10 फरवरी को मोसिलीन अपनी बहन के घर लिसाड़ी गेट में चली गई थी। चार दिन पहले ही गुलफाम अपने चाचा निजाम और अन्य लोगों को साथ लेकर वहां पहुंचा, पंचायत के बाद मोसिलीन को गुलफाम के साथ भेज दिया गया। दो दिनों तक सब सही रहा। उसके बाद फिर दंपती में विवाद होने लगा।

पुलिस ने बताया कि बच्चे के लिए गुलफाम दूसरी शादी की जिद कर रहा था। महिला उसका विरोध करती थी। इसी बात को लेकर विवाद होता था। थाना प्रभारी संजय द्विवेदी ने बताया कि मंगलवार रात करीब 12 बजे गुलफाम ने सोते हुए पत्नी का गला काट दिया। हत्या के बाद गुलफाम फरार हो गया। सुबह आसपास के लोगों ने घर के अंदर महिला का शव देखकर पुलिस को सूचना दी। सीओ नवीना शुक्ला पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचीं। पुलिस ने पोस्टमार्टम करा शव मायके वालों को सौंप दिया। पुलिस ने पिता की तहरीर पर गुलफाम, उसके चाचा निजाम, चचेरी बहन शबनम, भांजे असलम और बहन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

पंचायत में दिया था मोसिलीन की सुरक्षा का भरोसा, पुलिस को वीडियो सौंपी : पिता हाशिम ने बताया कि वे अपनी दूसरी बेटी विलकिश के साथ लिसाड़ी गेट में रहते हैं। 10 फरवरी को बिलकिश की मौत हो गई थी। तभी मोसिलीन घर आई थी। उसने बताया कि गुलफाम बहुत मारता- पीटता है। इसके बाद मोसिलीन को पिता ने भेजने से इन्कार कर दिया। नौ मार्च को गुलफाम अपने स्वजन को साथ लेकर लिसाड़ीगेट गया था। सभी ने भरोसा दिलाया था कि गुलफाम की जिम्मेदारी लेते हैं, वह मोसिलीन के साथ मारपीट नहीं करेगा। बाकायदा स्वजन ने उसकी वीडियो भी तैयार की थी। तब परिवार के लोगों ने मोसिलीन को ससुराल भेज दिया था। उसके चार दिन बाद ही गुलफाम ने पत्नी की हत्या कर दी। वीडियो के आधार पर ही पुलिस ने मोसिलीन को मायके से लेने गए लोगों को हत्या में साजिश का आरोपित बनाया है। बच्चे नहीं होने पर एक दूसरे को कसूरवार बताते थे दंपती पड़ोसियों ने पुलिस को बताया कि शादी के 18 साल बाद भी दंपती माता – पिता नहीं बन सके। दोनों ही इसके लिए एक दूसरे को कसूरवार बताते थे। लेकिन दोनों ने कभी उसके लिए डाक्टर की सलाह तक नहीं ली। इसी वजह से दोनों में कहासुनी शुरू होती थी, जो मारपीट तक पहुंच जाती थी। बात यहां तक पहुंच गई थी कि गुलफाम दूसरे निकाह का भी निर्णय ले चुका था।

सीओ सदर देहात नवीना शुक्ला का कहना है कि संतान नहीं होने पर पति ने ही महिला की हत्या कर दी। हत्यारोपित को पकड़ने के लिए पुलिस की टीम लगा दी गई है। आरोपित का मोबाइल बंद होने की वजह से लोकेशन नहीं मिल पा रही है।

Share.

About Author

Leave A Reply