Saturday, April 20

मां ने पैदा होते ही बच्ची का 10 हजार में किया सौदा, विरोध करने पर पति की पिटाई करके फरार हुई पत्नी

Pinterest LinkedIn Tumblr +

कुशीनगर 25 अक्टूबर। उत्तर प्रदेश से ममता को शर्मसार कर देने वाला मामला सामने आया, जहां नवरात्रि के अंतिम दिन यानी नवमी को जन्मी बच्ची को जन्म के तुरंत बाद उसकी मां ने उसे बेच दिया। इस बात का पता जब उस महिला के पति को चला और उसने पत्नी की इस हरकत का विरोध किया तो पत्नी ने अपने परिवार की अन्य 2 महिलाओं के साथ मिलकर उसकी धुनाई कर दी और मौके से फरार हो गई, जिसके बाद पीड़ित युवक ने स्थानीय थाने पहुंचकर मामले में न्याय की गुहार लगाई है।

मामला यूपी के कुशीनगर स्थित तमकुहीराज का है, जहां बीते मंगलवार दोपहर बाद सीएचसी में अचानक हंगामा हो गया, जिसके चलते अफरा-तफरी का माहौल हो गया। बताया जाता है कि सीएचसी परिसर के भीतर एक पुरुष को तीन महिलाएं अचानक पीटने लगीं। उस दौरान वहां मौजूद लोगों ने बीच-बचाव करते हुए मामले को शांत कराया। इसी दौरान पुरुष को पीटने वाली आरोपी तीनों महिलाएं भीड़ के बढ़ते देख मौके से फरार हो गईं।

मिली जानकारी के मुताबिक बिहार के ठकरहां थाना क्षेत्र के भेड़िहारी टोला के रहने वाले आशिक अली की शादी करीब 12 साल पहले यूपी के कुशीनगर स्थित तमकुहीराज थाना क्षेत्र के कोइन्दी लक्ष्मीपुर राजा के रहने वाले हसमुद्दीन की बेटी साजिदा के साथ हुई थी। जानकारी के अनुसार, दंपती की पांच बेटियां हैं। वहीं, पीड़ित आशिक की पत्नी इन दिनों गर्भवती थी और तमकुहीराज थाना क्षेत्र के कोइन्दी लक्ष्मीपुर राजा में अपने मायके में बीते एक महीने से रह रही थी। बताया जाता है कि बीते मंगलवार की दोपहर बाद अचानक साजिदा को प्रसव पीड़ा हुई तो मायके वाले उसे लेकर स्थानीय सीएचसी तमकुहीराज पहुंचे और इसकी जानकारी साजिदा के पति आशिक को दी गई।

पत्नी के प्रसव पीड़ा की जानकारी मिलते ही पति आशिक खुशी के चलते अपना काम छोड़कर पत्नी के पास आने के लिए निकल गया। पति रास्ते में ही था कि उसकी पत्नी ने एक स्वस्थ बच्ची को जन्म दे दिया। जानकारी के अनुसार, बच्ची के जन्म के बाद की मां की सहमति से नानी और मामी ने 10 हजार रुपये में उसका सौदा कर दिया और एक वायक्ति को बेच दिया। इतना ही नहीं, इस सौदे को लेकर हुई कहासुनी के बाद नौ हजार रुपये में सौदा तय हुआ। सौदा होते ही खरीददार बच्ची की खरीददारी से जुड़े साक्ष्य के तौर पर स्टाम्प पेपर लेने के लिए तमकुहीराज तहसील चला गया। इसी दौरान सीएचसी पहुंचे साजिदा के पति ने नवजात के बाबत कुशलता पूछी तो उसे बताया गया कि मरी हुई बच्ची पैदा हुई थी।

बच्ची के मरे होने की बात सुनकर पिता हैरत में पड़ गया। पत्नी और उसके परिवार की बात पर उसे यकीन नहीं हुआ तो वह प्रसव केंद्र पहुंचा और बच्ची से जुड़ी जानकारी जुटाई, जिससे उसे पता चला कि पति ने स्वस्थ बच्ची को जन्म दिया था और उस बच्ची को परिजनों के हाथों सुपुर्द कर दिया गया है। पीड़ित आशिक ने ये बात अपनी पत्नी, सास और सरहज से पूछी तो तीनों महिलाएं भड़क गईं और सीएचसी परिसर में ही पीड़ित आशिक नाम के युवक की पिटाई करने लगीं। इस दौरान लोगों की भीड़ इकट्ठा होती देख तीनों महिलाएं मौके से फरार हो गईं।

इस घटना के बाद पीड़ित युवक आनन फानन में स्थानीय थाने पहुंचा और पत्नी समेत अन्य दो महिलाओं के खिलाफ तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की। पुलिस के अनुसार, तहरीर मिलने के बाद तीनों को थाने बुलाया गया, जहां युवक व अन्य तीनों महिलाओं से आपसी सुलह समझौता कर लिया।

Share.

About Author

Leave A Reply