Saturday, April 13

विद्युत मीटर उखाड़कर 23 अक्टूबर के आंदोलन में शामिल होंगे किसानः राकेश टिकैत

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मुजफ्फरनगर 18 अक्टूबर। विद्युत विभाग के छापो के विरोध में मुण्डभर में चल रही किसानों की महापंचायत में मंगलवार को भाकियू अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत, राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत व गौरव टिकैत भी पहुंचे और बिजली विभाग के रवैए पर कड़ी नाराजगी जताई। बिजली विभाग की मनमानी के खिलाफ किसान नेताओं ने मोर्चा खोल दिया है। वहीं आगामी 23 अक्टूबर को मुजफ्फरनगर में बड़ा आंदोलन होगा। इसमें सभी किसान अपने विद्युत मीटर उखाड़कर लायेगें। भाकियू अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत ने विभागीय अफसरों पर किसानों के शोषण का आरोप लगाया है। किसान नेताओं ने चेतावनी दी है कि जब तक उनकी समस्या का समाधान नहीं हो जाता तब तक धरना जारी रहेगा।

राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत ने क्षेत्र के गांव मुंडभर में एक विशाल किसान पंचायत को संबोधित करते हुए कहा कि सभी किसान एकता बनाए रखें, किसान एकता ही एक ऐसा हथियार है जोकि सरकार की गलत नीतियों किसान विरोधी नीतियों पर भारी पड़ेगी। चौधरी टिकैत ने भाजपा सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि अगर किसान अपनी पर आ गया तो पूरे राज्य में कहीं पर भी भारतीय जनता पार्टी का झंडा नहीं दिखाई देगा। उन्होंने कहा कि गन्ने के कोल्हू चलने पर लोगों को रोजगार मिलता था, लेकिन बिजली बिल के डर से अधिकतर कोल्हू बंद हो गए। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री किसी भी किसान संगठन की समस्याएं सुने। चाहे वह गन्ने की हो या बिजली की हम यही कह रहे हैं कि किसान को सबसे पहले सम्मान दिया जाए। भाकियू अध्यक्ष ने किसानों से कहा कि अगर अबकी बार भी यह सरकार आती है तो किसान की दुर्गति होगी।

भाकियू प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत ने कहा कि आने वाली 23 तारीख को मुजफ्फरनगर में बड़े आंदोलन की शुरुआत की जाएगी। सबसे पहले वहां पर मीटर जमा होंगे और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कार्यालय का दरवाजा नहीं खुलेगा, तो ट्रैक्टर से दरवाजा तोड़ दिया जाएगा। उन्होंने किसानों से अपील की कि कोई भी बुढ़ाना मिल का किसान गन्ना केंद्र पर ना डालें। मुजफ्फरनगर डीएम कार्यालय पर गन्ना लेकर आए वही गन्ना डाला जाएगा ।

उन्होंने कहा कि देश को अब गांव बचाएंगे ,खाप पंचायत बचाएगी। राकेश टिकैत ने कहा कि हरियाणा के किसानों की भी आंदोलन में मदद ली जाएगी। मुजफ्फरनगर आंदोलन की तारीख 23 है, मगर वापसी की तारीख कोई तय नहीं की गई है। राकेश टिकैत ने कहा कि किसानों का यह आंदोलन जारी रहेगा, आगामी 23 तारीख को बडा आंदोलन होगा, जिसमें भारी संख्या में किसान जुटेगा। जब तक किसानों की समस्या का समाधान नहीं होगा, तब तक किसान घर वापसी नहीं करेगा।

Share.

About Author

Leave A Reply