Friday, March 1

कार की टक्कर से बाप और दो बेटों की मौत

Pinterest LinkedIn Tumblr +

नई दिल्ली, 22 नवंबर। राजौरी गार्डन थाना इलाके में सोमवार देर रात तेज रफ्तार का कहर देखने को मिला। 120 से 130 की रफ्तार पर काले रंग की ह्युंडई वरना कार को चला रहे चालक ने न सिर्फ स्कूटी को टक्कर मारी, बल्कि वह उसे करीब 400 मीटर तक घसीटता ले गया। इस दर्दनाक हादसे में स्कूटी सवार एक ही परिवार के तीन लोगों की जान चली गई। इसके बाद आरोपित सुभाष नगर की ओर भाग गया। मृतकों की पहचान उत्तम नगर के दिनेश वासन, उनके आठ वर्षीय बेटे दक्ष और आठ महीने के प्रयाण के रूप में हुई व घायल की पहचान दिनेश वासन की पत्नी प्रीति के रूप में हुई है। राजौरी गार्डन थाना पुलिस प्राथमिकी दर्ज कर आरोपित कार चालक का पता लगाने की कोशिश कर रही है।

घटना के चश्मदीद और पुलिस को कॉल करने वाले नांगलोई के सुमित ने बताया कि सोमवार रात को वह इलाके के रेस्तरां पर खाना खाने के लिए गए थे। तभी उन्हें स्कूटी व कार के टकराने की तेज आवाज आई। आवाज इतनी तेज थी कि एक किलोमीटर दूर से भी सुनाई पड़ जाती। बाहर आकर देखा तो काले रंग की वरना कार ने मेट्रो पिलर नंबर 430 नंबर के पास स्कूटी को टक्कर मारी। कार चालक स्कूटी को घसीटता हुआ लेकर जा रहा था। तभी स्कूटी से आठ वर्षीय बच्चा गिरा। कार चालक स्कूटी को घसीटते हुए ले जा रहा था। करीब 40 मीटर के बाद आठ महीने का बच्चा गिरा और 40 मीटर के बाद महिला सड़क पर गिर गई। सुमित ने बताया कि सबसे आखिरी में युवक गिरा और कार चालक तब भी नहीं रुका। वह स्कूटी को घसीटता हुआ लेकर गया व करीब 400 से 500 मीटर तक घसीटता लेकर गया। जब कार से स्कूटी निकल गई तो वह सुभाष नगर की ओर भाग गया।

सुमित व आसपास के लोगों ने पुलिस व एंबुलेंस के नंबर पर कॉल किया, लेकिन उनके पास इतना समय नहीं था कि वह एंबुलेंस आने का इंतजार करें। उन्होंने सबसे पहले युवक को उठाया व पास से गुजर रही कार को रुकवाकर उन्हें कुकरेजा अस्पताल में भिजवाया।इसके बाद आठ वर्षीय बच्चे को भी राहगीर की कार में दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल में भिजवाया। आठ महीने के बच्चे व उसकी मां को गुरु गोबिंद सिंह अस्पताल पहुंचाया। पुलिस कर्मी जब कुकरेजा अस्पताल पहुंचे तो वहां पर पता चला कि डॉक्टर ने दिनेश वासन को मृत घोषित कर दिया है। इसके बाद दीन दयाल अस्पताल से पता लगा कि दिनेश के बेटे दक्ष को भी मृत घोषित कर दिया है।
रघुबीर नगर के गुरु गोबिंद सिंह अस्पताल पहुंचे तो वहां पर आठ महीने का बच्चा प्रयाण व उसकी मां प्रीति का इलाज चल रहा था। मंगलवार सुबह प्रयाण की भी इलाज के दौरान मौत हो गई।

Share.

About Author

Leave A Reply