Thursday, June 13

घरेलू झगड़े में पिता ने ले ली बेटे की जान, दो साल पहले हुई थी शादी

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 02 मई (प्र)। गंगानगर थाना के ईशापुरम में घरेलू विवाद में पिता ने बेटे की हत्या कर दी। घटना से परिवार में कोहराम मचा हुआ है। पुलिस ने हत्यारोपी बताए जा रहे पिता को हिरासत ले लिया है। मृतक की दो साल पहले शादी हुई थी, उसकी छह माह की एक बेटी है।

गंगानगर थाना क्षेत्र के ईशापुरम मकान नंबर 108 में हवा सिंह तेवतिया का परिवार रहता है। वह सेना से सेवानिवृत्त है। उनका बड़ा बेटा 30 वर्षीय दीपक शास्त्री नगर स्थित जिम में ट्रेनर था। दो साल पहले दीपक की शादी स्याना निवासी शीतल से हुई थी। उनकी छह माह की बेटी मान्या है। बताया जाता है कि दीपक जिम ट्रेनर था । यह भी जानकारी मिली है कि इन दिनों उसके पास कोई काम धंधा नहीं था। जिसको लेकर घर में अक्सर क्लेश रहता था। आसपास के लोगों की मानें तो बुधर की शाम को दीपक और हवा सिंह के बीच किसी बात को लेकर कहासुनी हो गयी। दोनों की कहासुनी मारपीट व झगड़े में बदल गयी। घर का झगड़ा शोरा शराब के चलते बाहर तक आ गया।

हालांकि पड़ोस से कोई घर के भीतर तो नहीं गया, लेकिन पता चला कि दीपक झगड़े के दौरान हवा सिंह ने बेटे के पेट में चाकू मार दिया।
चाकू लगते ही पेट से खून की धार छूट गयी। वह गिर पड़ा। जिस वक्त यह झगड़ा चल रहा था, बताया जाता है कि उस वक्त दीपक की पत्नी शीतल मकान के ऊपर वाले हिस्से में थी। वह दौड़कर नीचे आयी। उसने पति को फर्श पर लहूलुहान अवस्था में देखा तो उसकी चींख निकल गयी। वह मदद के लिए चिल्लाई। तब तक पड़ौस के लोग भी भीतर आ गए। लोगों ने ही कहा कि हवा सिंह ने दीपक के पेट को चाकू से फाड़ दिया। दीपक की हालत देखकर शीतल का रो-रोकर बुरा हाथ था। दीपक को तुरंत उठाकर रक्षापुरम के अप्सनोवा अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उपचार के दौरान कुछ देर बाद उसकी मौत हो गई। सूचना पर पुलिस व फोरेंसिक टीम मौके पर जांच में जुटी है।

वहीं, पुलिस परिजनों से मामले की पूछताछ में लगी है। परिजन कुछ भी बताने को तैयार नहीं है। घटना के समय कमरे में दीपक की पत्नी, पिता और अन्य परिजन मौजूद थे। अभी इस मामले में पुलिस को तहरीर नहीं मिली है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

Share.

About Author

Leave A Reply