Monday, May 20

बाटला प्रकाशन के निदेशक व पत्नी पर धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ, 11 अक्टूबर (प्र)। शहर के दो बड़े कारोबारी एक करोड़ 67 लाख लेनदेन को लेकर फिर से आमने सामने आ गए। एसआर टैक्सटाइल कंपनी के स्वामी शरद जैन की तरफ से बाटला प्रकाशन के निदेशक विश्वनाथ बाटला और उनकी पत्नी गीता बाटला पर धोखाधड़ी और जान से मारने की धमकी देने का मुकदमा दर्ज किया है। उधर, पहले बाटला प्रकाशन के स्वामी ने एसआर टैक्सटाइल कंपनी के स्वामी पर मारपीट का मुकदमा दर्ज कराया था।

लालकुर्ती थाना क्षेत्र की शिवलोक कालोनी में एसआर टैक्सटाइल कंपनी के निदेशक शरद जैन का आवास है। परतापुर के उद्योगपुरम में उनकी कंपनी है। शरद जैन के मुताबिक, डेढ़ साल पहले विश्वनाथ बाटला से साढ़े पांच करोड़ में मकान का सौदा किया था। गंगानगर थाना क्षेत्र के डिफेंस कालोनी में बाटला प्रकाशन के निदेशक विश्वनाथ बाटला परिवार के साथ रहते हैं। एडवांस के तौर पर 55 लाख का चेक और एक करोड़ 12 लाख नकद रकम विश्वनाथ बाटला को दी गई थी। उनका आरोप है कि विश्वनाथ बाटला ने मकान का बैनामा कराने से अब इन्कार कर दिया। साथ ही रकम भी वापस नहीं कर रहे हैं। इतना ही नहीं, उनका फोन भी रिसीव करना बंद कर दिया। विश्वनाथ बाटला और उनकी बना रहे है।

पत्नी गीता बाटला के साथ कई स्थानों पर मीटिंग भी हो चुकी है। उसके बाद भी वह रकम देने को तैयार नहीं है, जिसे लेकर दोनों पक्षों में मारपीट भी हो चुकी है। शरद जैन ने बताया कि विश्वनाथ बाटला और उनकी पत्नी गीता बाटला ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी है। एसएसपी के आदेश पर विश्वनाथ बाटला और गीता बाटला पर धोखाधड़ी, अमानत में खयानत और जान से मारने की धमकी देने का मुकदमा लालकुर्ती थाने में दर्ज किया जा चुका है। एसओ इंदू कुमारी ने बताया कि विवेचना शुरू कर दी गई है।
विश्वनाथ बाटला का कहना है कि शरद जैन के पिता जितेंद्र जैन से 50 लाख का लोन लिया था। उसकी ऐवज में वह मकान का बैनामा करने का दबाव बना रहे हैं।

Share.

About Author

Leave A Reply