Thursday, June 13

IAS अधिकारी अभिषेक सिंह ने दिया इस्तीफा, फरवरी से चल रहे थे सस्पेंड

Pinterest LinkedIn Tumblr +

लखनऊ 04 अक्टूबर (प्र)। विवादों में रहने वाले यूपी कैडर के IAS अधिकारी अभिषेक सिंह ने इस्तीफा दे दिया है। अधिकारियों ने इसकी पुष्टि कर दी है। हालांकि अभी तक अभिषेक सिंह की ओर से इस बारे में कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया गया है। संभावना जताई जा रही है कि अभिषेक सिंह राजनीति में करियर बना सकते है। बता दें कि IAS अधिकारी अभिषेक सिंह बिना सूचना दिए लापता चल रहे थे। यूपी सरकार ने इस कृत्य को अखिल भारतीय सेवाएं आचरण नियमावली 1968 के नियम 3 का उल्लंघन मानते हुए आईएएस अभिषेक सिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबन कर राजस्व परिषद से संबंध कर दिया था। IAS अभिषेक सिंह करीब तीन महीने से लापता चल रहे थे।

बताते चले कि IAS अभिषेक सिंह गुजरात चुनाव के दौरान सोशल मीडिया पर अपनी कुछ तस्वीरें शेयर कर काफी सुर्खियों में आए। चुनाव आयोग ने इस पर बड़ी कार्रवाई करते हुए पर्यवेक्षक के पद से हटा दिया था। आयोग ने गुजरात के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) को कड़े शब्दों में लिखे एक पत्र में कहा कि भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के 2011 बैच के अधिकारी अभिषेक सिंह ने सामान्य पर्यवेक्षक के रूप में अपनी नियुक्ति की जानकारी साझा करने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल किया और अपनी आधिकारिक पद का इस्तेमाल किया।
आयोग ने इस मामले को ‘‘बेहद गंभीरता से लिया’’ और उन्हें सामान्य पर्यवेक्षक की भूमिका से तत्काल मुक्त कर दिया था। सिंह ने अपने ट्विटर अकाउंट पर अपनी पहचान में खुद को आईएएस के अलावा एक जन सेवक, कलाकार और सामाजिक उद्यमी बताया है। उन्होंने ट्विटर पर भी उन तस्वीरों को साझा किया है, जो उन्होंने इंस्टाग्राम पर साझा किया था। हालांकि अभिषेक सिंह ने इस मामले में सफाई भी दी थी। उन्होंने कहा कि उनके पोस्ट में कुछ भी गलत नहीं है और वह ‘‘न तो प्रचार है और न ही स्टंट’’। आयोग ने अगले आदेश तक उस अधिकारी को चुनाव संबंधी कोई भी जिम्मेदारी सौंपे जाने पर रोक लगा दी थी।

गौरतलब साल 2015 में IAS अभिषेक 3 साल के लिए दिल्ली सरकार में प्रतिनियुक्ति पर गए थे। साल 2018 में प्रतिनियुक्ति की अवधि 2 साल के लिए बढ़ाई गई। लेकिन उस दौरान वह मेडिकल लीव पर चले गए। इसके बाद दिल्ली सरकार ने उन्हें 19 मार्च 2020 को मूल कैडर यूपी वापस भेज दिया। उन्होंने यूपी में लंबे समय तक जॉइनिंग नहीं की। 10 अक्टूबर 2022 को नियुक्ति विभाग ने उनका पक्ष मांगा तो इतनी लंबे समय तक लापता रहने का कोई उत्तर भी नहीं दिया गया।
2011 बैच के आईएएस अधिकारी अभिषेक सिंह जौनपुर के निवासी हैं। उनकी पत्नी दुर्गा शक्ति राजपाल बांदा जनपद की डीएम हैं।

Share.

About Author

Leave A Reply