Tuesday, May 28

प्रबन्ध निदेशक ने किया विद्युत परीक्षण खण्डों का औचक निरीक्षण

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ, 06 जनवरी (प्र)। पीवीवएनएल की प्रबन्ध निदेशक, श्रीमती चैत्रा वी. ने विद्युत परीक्षण खण्ड-प्रथम एवं विद्युत परीक्षण खण्ड-द्वितीय मेरठ का औचक निरीक्षण किया। परीक्षण खण्ड पर प्रबन्ध निदेशक द्वारा दोषपूर्ण मीटरों में रीडिंग ज्ञात करने की प्रक्रिया की जानकारी ली। उन्होंने दोशपूर्ण मीटरों की रीडिंग ज्ञात कर, जांच करने के निर्देश दिये। प्रबन्ध निदेषक ने कहा कि मीटर दोशपूर्ण होने पर उपभोक्ता को मीटर यूनिट आधारित बिल उपलब्ध नही हो पाता, उपभोक्ता को सही बिल, सही समय पर उपलब्ध कराया जाये।

प्रबन्ध निदेशक ने कहा कि समस्त 14 जनपदों में ‘विद्युत परिवार आपके द्वार‘ अभियान चलाया जा रहा है जिसमें क्षेत्र में आ रही व्यवहारिक समस्याओं मीटरिंग, बिलिंग तथा राजस्व संग्रह में आ रही बाधाओं का अध्ययन कर, उनका निस्तारण किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि अभियान में अधिकारियों को निर्देश दिये गये हैं कि दोशपूर्ण मीटरों पर कार्यवाही करते हुये उन्हे षीघ्र बदला जाये जिससे कि उपभोक्ताओं को किसी परेषानी का सामना न करना पड़े।

निरीक्षण में उन्होंने निर्देश दिये कि प्रतिदिन प्रत्येक जेएमटी को दस दोषपूर्ण मीटरों को बदलने का लक्ष्य निर्धारित किया जाये तथा मीटर यूनिट आधारित रीडिंग अधिशासी अभियन्ता (परीक्षण) द्वारा सुनिश्चित की जाये। मीटर सम्बन्धी अनियमित्ता की जांच आधुनिक मीटर रीडिंग उपकरणों द्वारा की जाये जिससे मीटर में छेड़छाड़, मीटर में शंट, खपत में अन्तर आदि का पता लगाया जा सके। उन्होंने कहा 5 किलोवाट से अधिक भार वाले उपभोक्ताओं के मीटरों की एमआरआई अनुश्रवण शतप्रतिशत सुनिश्चित किया जाये।
प्रबन्ध निदशक ने उपभोक्ताओं से इस अभियान में सहयोग देने का आह्नवान किया। उन्होंने कहा उपभोक्ता बिना मीटर के विद्युत का उपयोग न करें। उपभोक्ता यदि लोड बढ़वाना चाहते हैं तो अभियान में लोड बढ़ाने के लिये आवेदन कर सकते हैं। विद्युत परीक्षण खण्ड-द्वितीय मेरठ का निरीक्षण करने पर, प्रबन्ध निदेशक ने निर्देश दिये कि सभी मीटरों का लेखा-जोखा रखा जाये। उपभोक्ताओं को नया संयोजन मीटर सहित प्राथमिकता पर ससमयनिर्गत किया जाये।

Share.

About Author

Leave A Reply