Wednesday, May 22

सोफिया प्रकरणः छेड़छाड़ के दोषी खेल प्रशिक्षक संस्पेंड, जांच समिति में अभिभावक व अन्यों किया जाए शामिल, महिला खिलाड़ियों की हो नियुक्ति

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ 23 सितंबर (प्र)। शहर के लड़कियों के प्रतिष्ठित गर्ल्स स्कूल सोफिया में छेड़छाड़ के आरोपी पिता पुत्र को आखिर संस्पेंड कर ही दिया गया। खबर के अनुसार इसके लिए स्कूल की प्रबंध समिति द्वारा एक जांच समिति गठित की गई है। कुछ अभिभावकों का मानना है कि इस जांच समिति में दो अभिभावक एक अधिवक्ता एक पत्रकार और एक प्रशासनिक पुलिस अधिकारी भी होना चाहिए जिससे सही जांच हो और दोषियों को उनकी करनी की सजा मिल सके। क्योंकि मौखिक रूप से कई अभिभावकों का कहना है कि ये तो एक मामला है जो चर्चाओं में आ गया अब पता चल रहा है कि पहले भी ऐसी घटनाऐं होती रही है। जिसे ध्यान में रखते हुए अब भविष्य में सोफिया सहित लड़कियों के सभी स्कूलों में बास्केट बॉल कोच और पीटीआई आदि के पद पर महिला खिलाड़ियों की तैनाती ही होनी चाहिए।

एक खबर के अनुसार शहर के नामचीन सोफिया गर्ल्स स्कूल में छात्राओं के साथ छेड़छाड़ और मोबाइल पर अश्लील चैट करने का मामला तूल पकड़ गया हैं। इस मामले में सोफिया स्कूल की खासी किरकिरी शहर में हो रही हैं। क्योंकि सोफिया का अपने आपमें बड़ा नाम हैं, लेकिन इस छेड़छाड़ के प्रकरण में हंगामे के बाद ही स्कूल प्रबंधन ने कार्रवाई करते हुए कोच व उनके पुत्र को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया हैं।

मामला सुर्खियां में आया तो स्कूल प्रबंधन ने आनन फानन में स्पोर्ट्स कोच और उसके पिता को स्कूल से सस्पेंड कर दिया है। प्रिंसिपल सिस्टर मीना के अनुसार सातवीं क्लास की एक छात्रा के परिजनों ने स्पोर्ट्स टीचर अदान मिर्जा पर बास्केटबॉल सिखाने के नाम पर अपनी बेटी से छेड़छाड़ किए जाने का आरोप लगाया था।
छात्रा के आरोपों उस पर कार्रवाई करते हुए स्कूल प्रबंधन द्वारा स्पोर्ट्स कोच अदान मिर्जा और स्कूल में ही पीटीआई गेम्स टीचर के पद पर तैनात उसके पिता शाहबाज मिर्जा को भी तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया बताया गया है।

Share.

About Author

Leave A Reply