Thursday, May 30

नर्स की नहाते समय बना ली वीडियो, पुलिस हेड कांस्टेबल निलंबित

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मुरादाबाद 11 अक्टूबर । मुरादाबाद के थाना सिविल लाइन क्षेत्र स्थित एक अस्पताल के नर्सिंग मेस में रहने वाली नर्स ने मंगलवार को पड़ोसी नर्स के पति व पुलिस हेड कांस्टेबल पर नहाते समय वीडियो बनाने का आरोप लगाया जिसके बाद एसएसपी हेमराज मीणा ने आरोपित हेड कांस्टेबल को निलंबित कर दिया है और मामले में जांच एसपी सिटी अखिलेश भदौरिया को सौंपी दी। उधर जिला अस्पताल प्रशासन ने नर्सिंग मेस में रह रहे नर्सों के परिजनों को तत्काल हॉस्टल खाली करने का आदेश दिया है।

मूल रूप से बदायूं निवासी युवती जिला अस्पताल में नर्स है। युवती जिला अस्पताल परिसर में ही स्थित नर्सिंग मेस में रहती है। युवती के अनुसार हॉस्टल में उसके कमरे के पास ही दूसरे कमरे में दूसरी नर्स रहती है। उसका पति यूपी पुलिस में हेड कांस्टेबल है और वर्तमान में मुरादाबाद की शहर कोतवाली में तैनात है।

पीड़िता के अनुसार मेस में नर्सों के लिए कॉमन टॉयलेट और बाथरूम हैं। वह मंगलवार की सुबह करीब साढ़े सात बजे बाथरूम में नहा रही थी। तभी झरोखे में मोबाइल फोन और उंगली दिखी। इसके बाद वह खुद को ढकते हुए बाहर निकल गई। पीड़िता का आरोप है कि बाहर निकल कर उसने देखा तो हेडकांस्टेबल भी साथ के ही टॉयलेट में मौजूद था।

नर्स के अनुसार उसने टीशर्ट पकड़ कर हेडकांस्टेबल को बाहर खींचा। इस बीच आरोपित ने मोबाइल से वीडियो डीलिट कर दी। इसके बाद पीड़िता ने हॉस्टल में रहने वाली अन्य नर्सों को जानकारी दी। इससे उनमें आक्रोश फैल गया और हंगामा शुरू हो गया। उस समय पीड़िता अपने कमरे में चली गई और कॉल करके शाहजहांपुर में तैनात अपनी बहन को सूचना दी। बहन के आने के बाद नर्स ने सिविल लाइंस थाने पर पहुंच कर एसएचओ आरपी शर्मा से घटना की शिकायत की।

शिकायत मिलते ही एसएचओ आरपी शर्मा ने कैंप चौकी प्रभारी सौरभ त्यागी, रामगंगा विहार चौकी प्रभारी राजवेंदर कौर समेत पुलिस बल के साथ नर्स हॉस्टल पहुंच कर जांच पड़ताल की और बाथरूम और टॉयलेट में बताए गए घटना स्थल का बारीकी से निरीक्षण किया। घटना के बाद पुलिस ने आरोपित हेड कांस्टेबल की पत्नी को बुलाकर भी पूछताछ की।
एसएसपी हेमराज मीणा ने बताया कि आरोपी हेड कांस्टेबल अमित को जांच पूरी होने तक के लिए निलंबित कर दिया गया है। कोतवाली में तैनात आरोपी हेड कांस्टेबल और उसकी पत्नी का मोबाइल पुलिस ने जब्त कर जांच के लिए फोरेंसिंक विभाग को भेज दिया है। पूरे मामले की जांच एसपी सिटी अखिलेश भदौरिया को सौंपी गई है।

Share.

About Author

Leave A Reply