Friday, April 19

28 से शुरू होगा यूपी विधानसभा का शीतकालीन सत्र

Pinterest LinkedIn Tumblr +

लखनऊ 09 नवंबर। उत्तर प्रदेश विधानसभा का शीतकालीन सत्र 28 नवंबर से शुरू होगा. ये सत्र 28 नवंबर से एक दिसंबर तक चलेगा. इस दौरान योगी आदित्यनाथ सरकार सदन में वित्तीय वर्ष 2023-24 के लिए अनुपूरक बजट भी पेश करेगी. इस संबंध में आज अयोध्या में कैबिनेट बैठक बुलाई गई है. जिसकी अध्यक्षता सीएम योगी करेंगे. इस बैठक में शीतकालीन सत्र को बुलाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी जाएगी.
सीएम योगी आदित्यनाथ आज 9 नवंबर को अयोध्या में मौजूद रहेंगे, इस दौरान वो 11 नवंबर को होने वाले भव्य दीपोत्सव की तैयारियों की जायजा लेंगे. सीएम योगी सुबह रामकथा पार्क पहुंचेंगे, जहां वो अपने मंत्रिमंडल के साथ हनुमानगढ़ी में दर्शन पूजन करेंगे. इसके बाद रामलला के भी दर्शन करेंगे. इसके बाद सीएम योगी आदित्यनाथ कैबिनेट की बैठक करेंगे, जिसमें शीतकालीन सत्र को बुलाने के प्रस्ताव पर मुहर लगाई जाएगी.

जानकारी के मुताबिक योगी कैबिनेट की बैठक में शीतकालीन सत्र बुलाने संबंधी प्रस्ताव समेत दर्जनभर प्रस्तावों पर चर्चा होगी, जिन पर मुहर लग सकती है. वहीं इन विकास कार्यों में तेजी के साथ महिलाओं, किसानों और युवाओं को लेकर कई प्रस्ताव हो सकते हैं. इसके लिए धनराशि की व्यवस्था शीतकालीन सत्र में अनुपूरक बजट के जरिए की जाएगी.

कैबिनेट बैठक में अयोध्या जी तीर्थ क्षेत्र विकास परिषद के गठन को मंजूरी मिलेगी। परिषद के गठन के लिए श्री अयोध्या जी तीर्थ विकास परिषद विधेयक 2023 को विधानमंडल में प्रस्तुत करने का प्रस्ताव मंजूर किया जाएगा।
अयोध्या के माझा जमथरा गांव में 25 एकड़ भूमि पर भारतीय मंदिर वास्तुकला संग्रहालय की स्थापना के प्रस्ताव पर भी मुहर लगेगी। इसके लिए 25 एकड़ भूमि पर्यटन विभाग को निशुल्क हस्तांतरित देने का प्रस्ताव भी मंजूर होगा। अयोध्या में स्थित अयोध्या शोध संस्थान को अंतरराष्ट्रीय अयोध्या रामायण एवं वैदिक शोध संस्थान के रूप में विकसित करने के प्रस्ताव पर भी चर्चा होगी।

इसी प्रकार देवीपाटन धाम तीर्थ विकास परिषद का प्रस्ताव मंजूर किया जाएगा। परिषद गठन के लिए लिए उत्तर प्रदेश प्रदेश श्री देवीपाटन धाम तीर्थ विकास परिषद विधेयक 2023 को विधानमंडल के शीतकालीन सत्र में पेश करने का प्रस्ताव भी मंजूर किया जाएगा।

शुक्रताल धार्म तीर्थ विकास परिषद के गठन का प्रस्ताव भी मंजूर होगा। उत्तर प्रदेश शुक्रताल धाम तीर्थ विकास परिषद विधेयक 2023 को विधानमंडल के शीतकालीन सत्र में पेश करने का प्रस्ताव भी मंजूर होगा।
सरकार सांस्कृतिक राष्ट्रवाद के एजेंडे के तहत अयोध्या में प्रतिवर्ष होने वाले मकर संक्रांति और बसंत पंचमी मेले, बुलंदशहर के अनूपशहर में होने वाले कार्तिक पूर्णिमा गंगा स्नान मेले और हाथरस के लक्खी मेला श्री दाऊजी महाराज के प्रांतीयकरण को मंजूरी दी जाएगी। इसके बाद इन मेलों की व्यवस्था में होने वाले खर्च को सरकार वहन करेगी।

Share.

About Author

Leave A Reply