Wednesday, May 22

एटीएस की गिरफ्त में आए 4 आतंकियों ने खोले राज, इंटरनेट पर फैला रहे थे जिहाद

Pinterest LinkedIn Tumblr +

लखनऊ 12 नवंबर। उत्तर प्रदेश में तेजी से बह रही ISIS के संदिग्ध आतंकियों की सक्रियता के चलते यूपी पुलिस, यूपी एसटीएफ के साथ एटीएस की टीम प्रदेश के अलग अलग हिस्सों में छापेमारी करती हुई नजर आ रही है। बता दें कि एटीएस ने अलीगढ़ से बीते पांच नवंबर को ISIS के संदिग्ध आतंकी अब्दुल्ला अर्सलान व माज बिन तारिक को गिरफ्तार करने के बाद उनके अन्य सक्रिय साथियों की तलाश तेज कर दी थी, जिसके बाद इनका एक साथी वजीहुद्दीन छत्तीसगढ़ से ATS की गिरफ्त में आया था। लगातार ऐसे संदिग्धों की हो रही गिरफ्तारी और इनसे पूछताछ में खुल रहे राज के बाद पुणे माड्यूल से जुड़े इन आतंकियों के अन्य साथियों की तलाश भी तेज हो गई है। इसी बीच ATS की टीम ने यूपी के अलग अलग जिलों से 4 अन्य संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया है।

स्पेशल डीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार ने संदिग्धों की गिरफ्तारी के बाद बताया कि ISIS के आतंकी भदोही निवासी राकिब इमाम अंसारी, संभल के रहने वाले नावेद सिद्दीकी, मोहम्मद नोमान व मोहम्मद नाजिम को गिरफ्तार किया गया है। प्रशांत कुमार ने इनसे संबंधित जानकारी देते हुए बताया कि आरोपी राकिब इमाम ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से बीटेक व एमटेक और नावेद सिद्दीकी ने बीएससी तथा नोमान ने बीए किया है। इतना ही नहीं, नोमान के जरिए से नाजिम AMU के ISIS माड्यूल से जुड़ा था।

यूपी के अलग अलग जिलों से पकड़े गए संदिग्धों को लेकर एडीजी एटीएस मोहित अग्रवाल ने बताया कि संदिग्ध राबिक को बीते शुक्रवार को अलीगढ़ से और नावेद, नोमान व नाजिम को अगले दिन शनिवार को यूपी के संभल जिले से पकड़ा गया। गिरफ्तारी के बाद हुई पूछताछ में सामने आया कि ये चारों ISIS से जुड़कर आतंकी घटनाएं करने की प्लानिंग करते हुए जिहाद की गतिविधियों को बढ़ावा दे रहे थे। पूछताछ में ये भी सामने आया कि गिरफ्त में आए आरोपी कई युवकों को इंटरनेट मीडिया के जरिए से जिहाद के लिए उकसाने के साथ ही उन्हें छिपकर गोपनीय स्थानों पर आतंकी ट्रेनिंग दिलाने का काम भी कर रहे थे।

बताते चलें कि एटीएस पहले पकड़े गए अब्दुल्ला व तारिक को पुलिस रिमांड पर लेकर पूछताछ कर रही है। पूछताछ के दौरान दोनों आरोपियों से कई राज भी उगलवाए गए हैं, जिनके आधार पर आगे की छानबीन की जा रही है। बताया जा था है कि आरोपियों का नेटवर्क यूपी के अलीगढ़ के अलावा संभल, प्रयागराज, लखनऊ, रामपुर, कौशाम्बी, सहारनपुर व अन्य जिलों में फैला है।

Share.

About Author

Leave A Reply