Friday, March 1

800 से अधिक छात्र-छात्राएं भगवान राम की आकृति को मानव श्रृंखला बनाकर लिमका बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में कराएंगे नाम दर्ज

Pinterest LinkedIn Tumblr +

मेरठ, 17 जनवरी (प्र)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तथा सीएम योगी आदित्यनाथ के अथक प्रयासों के प्रेरणास्वरूप पं. दीन दयाल उपाध्याय मैनेजमेंट कॉलिज के 800 से अधिक छात्र-छात्राएं 18 जनवरी 2024 को अपरान्ह् 02ः00 बजे कैलाश प्रकाश स्टेडियम में श्रीरामचन्द्र जी की आकृति मानव श्रृंखला द्वारा धरातल पर बनाकर लिमका बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराने का एक सराहनीय प्रयास करने जा रहे हैं।

आईआईएमटी समूह के माल रोड़ स्थित पं0 दीन दयाल उपाध्याय मैनेजमेंट कॉलिज मेरठ के सभागार में पत्रकार वार्ता का आयोजन किया गया। वार्ता को संबोधित करते हुए आईआईएमटी समूह के प्रबन्ध निदेशक डॉ. मयंक अग्रवाल न कहा कि पं. दीन दयाल उपाध्याय मैनेजमेंट कॉलिज के 800 से अधिक छात्र-छात्राएं श्रीरामचन्द्र जी की आकृति मानव श्रृंखला द्वारा बनाकर लिमका बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराने का एक सराहनीय प्रयास दिनांक 18 जनवरी 2024 को अपरान्ह् 02ः00 बजे कैलाश प्रकाश स्टेडियम में लिमका बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराने का एक सराहनीय प्रयास करने जा रहे हैं।

इस आयोजन में मेरठ के सभी जनप्रतिनिधि, जिलाधिकारी एवं प्रशासनिक अधिकारी भी उपस्थित रहेंगे। कॉलिज के छात्र-छात्राओं द्वारा किये जा रहे इस आयोजन में भारत की राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, गृहमंत्री, भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष, सरसंघचालक, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ, अध्यक्ष विश्व हिन्दू परिषद एवं मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश एवं जनपद मेरठ के समस्त प्रशासनिक अधिकारियों को आमंत्रित किया गया है। कॉलिज के निदेशक डॉ. निर्देश वशिष्ठ, विभागाध्यक्ष डॉ. रोबिन्स रस्तौगी ने बताया की पं. दीन दयाल उपाध्याय मैनेजमेंट कॉलिज के छात्र-छात्राओं का यह प्रयास विश्व पटल पर मेरठ के नाम रोशन करेगा। यह रिकार्ड बनना मेरठ के लिये गर्व की बात होगी। इस आयोजन में सभी का सहयोग अपेक्षित है और हमे आशा है की बड़ी संख्या में लोग इस वर्ल्ड रिकार्ड को बनते देखने के लिये कैलाश प्रकाश स्टेडियम पहुंचेगे।

Share.

About Author

Leave A Reply